आत्मिक शांति की खोज-सच्चाई का जीवन

अभ्यास – आप देखें कि आप रोज कितनी बारे सच्चाई का नियम तोडते हैं? आप गौर करें कि आप किसी से असत्य कथन तो नहीं कहते, धोखाधडी या दिखावा तो नहीं करते और किसी पराये का हक तो नहीं मारते । आप इस बात को भी नोट करें कि आप अपनी त्रुटियों को नजरअंदाज करके अपने आप को कितनी बार धोखा देते हैं । आप संयम बरतें और अपने जीवन में से असत्य को हटाकर उसकी जगह सत्य ले आएँ । आप इसका प्रभाव अपनी मानसिक शांति पर देखें । आप दिन-प्रतिदिन, सच्चाई के नियम को तोडने की आदत कम करते जाएँ ।

(क्रमश:254) (कृपाल आश्रम, अहमदनगर) 

ई- पेपर  बातम्या   आत्मधन  ज्योतिष  वास्तुशास्त्र  संस्कृती  आरोग्य  गृहिणी  पाककला  सौन्दर्य  मुलांचे विश्व  सुविचार  सामान्य ज्ञान   नोकरी विषयीक   प्रॉपर्टी   अर्थकारण   मनोरंजन   तंत्रज्ञान  क्रिडा  पर्यटन  निधनवार्ता   पोल  प्रश्नमंजुषा