26.7 C
ahmadnagar,IN
Sunday, August 18, 2019
Home Tags Shravak

Tag: shravak

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

विवेकवान ही अरिहंत बन सकता है चातुर्मास की शुरुवात से ही हम अरिहंत पद को निहार रहे हैं। अरिहंत पद प्राप्ती का हम चिंतन कर...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

लापरवाही एक दिन अखबार पढते हुवे न्युज देखने में आई। कुछ लडकीयॉं पिकनिक मनाने नदी किनारे गई। पानी काफी गहरा था। नेचर अपनी सुंदरता...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

प्रतिपल जागरुक हों आषाढ मुनि अब पूरी तरह से जाग गए और गुरुजी के पास आ गए । संयम में पूर्ण रूप से स्थिर...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

गलती का सुधार कभी आपने ताश के पत्तों के घर बनायें है? बहोत बनाये पर आज उनमें से कितने बचे एक भी नहीं ।...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

नया चाहिए युरोप एक छोटासा देश उसको स्वतंत्रता मिली और वहॉं की जनता खुश हो गई । ऐसे ही एक बुढीयॉं भी खुश थी...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

अरिहंत पद प्राप्ती की पहली सीडी सम्यक्दर्शन, सही विश्वास । सही स्थान पर किया गया सही रूप से किया गया विश्वास सम्यक्दर्शन कहलाता है...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

सम्यग्दर्शन यह संसार सारा मैं का पसारा है । मैं, मेरा, मुझको के ईर्द-गिर्द हम घूमते हैं । मैं-मैं मे उलझे हुए हैं पर...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ आनंदवाणी

चार घाति कर्म तीर्थंकर भगवान फरमाते हैं कि हर आत्मा अरिहंत बन सकती है । प्रश्न होता है - कैसे? अष्ट कर्मों में से...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

जैसा उद्देश्य, वैसी प्राप्ति सोच जैसी हो, उद्देश्य वैसाही बनता है । तदनुसार ही फलप्राप्ति होती है । अतः सोच अच्छी हो, सोच ऊंची...

श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ – आनंदवाणी

सागर दिखाती एक लहर केशरदेवी जी म.सा. 13 साल के हुए और उनकी दीक्षा हो गई थी । बुद्धि बहुत अच्छी थी, इसलिए सब कुछ...

MOST POPULAR

HOT NEWS

error: Content is protected !!