Home Tags Aatmadhan

Tag: aatmadhan

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
सिर्फ हमें उसका सही ज्ञान होना चाहिये। सांस और दिव्य शक्तियां कोई भी काम तब तक मश्किल है जब तक हम जानते नहीं कि...

दिव्य चिंगारी-भाग – 1 (दिव्य चिंगारीस पेटवा) शाकाहारी आहार

0
हा अनुभव इतका गहन होता कि त्यांना समजले कि सर्वात प्रभावशाली सिध्दांत हा प्रेमाचा सिध्दांत आहे. वास्तव्यात मृत्यु सारख्या अनुभवातून परतले तर ते ज्योतिमुळे...

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
जब हम बायें स्वर से सांस लेते हैं तो हम 4,8,12,16 और 20 मिनट आकाश, वायु, अग्नि, जल और पृथ्वी तत्व से ऊर्जा प्राप्त...

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
एक शेर को टांग पर बहुत चोट लग गई और वह एक गुफा में घुस गया। 2-3 दिन बाहर। नहीं निकला तो शिकारियों ने...

दिव्य चिंगारी- भाग – 1 (दिव्य चिंगारीस पेटवा) शाकाहारी आहार

0
घालण्याकरीता पर्याप्त आहे. भुमि आणि भुमीवर वाढणार्‍या लोकसंख्येकडे एक दृष्टि टाकली तर आम्हांस असे दिसून येईल कि शाकाहारी आहार आमच्या संसाधनाचा उत्तम उपयोग करतो....

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
रात को नींद के लिये दायॉं (सूर्य) स्वर चलना चाहिये नींद अच्छी आयेगी। क्योंकि रात को ठंड के कारण गर्मी चाहिये जो दायें स्वर...

दिव्य चिंगारी-भाग – 1 (दिव्य चिंगारीस पेटवा) शाकाहारी आहार

0
विचार करा त्या जनावराच्या भिती व दहशती बद्दल जेव्हा त्याला मारले जाते. आम्हाला हे माहित आहे कि जेव्हा आपण घाबरतो तेव्हा कॉर्टिसोल व एड्रिनलिन...

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
काम, क्रोध, ईर्ष्या, भय आदि तीव्र भावों और तनावों के समय स्वर (सांस) को जाच । करना भूल जाते हैं। ये तनाव और आवेश...

दिव्य चिंगारी-भाग – 1 (दिव्य चिंगारीस पेटवा) शाकाहारी आहार

0
’आम्ही जेव्हा शाकाहारी आहाराबद्दल विचार करतो तेव्हा आम्ही यास नेहमी आपल्या भौतिक शारीरिक आरोग्याशी जोडतो. शाकाहारी आहाराने आम च्या शरीराला कसा लाभ होतो हे...

आंतरिक बल (भाग – 1)-स्व संवाद

0
जिन बच्चों या व्यक्तियों को स्नेह नहीं मिलता प्रायः उन्हें ही नशे की। आदतें,लड़ाई झगड़े की आदतें लग जाती हैं। ऐसे लोग सदा पीडित...

MOST POPULAR

HOT NEWS

error: Content is protected !!