सच्चा सुख (शिक्षाप्रद आध्यात्मिक कथाएँ) – भक्ती की भावना

यह जिंदगी चंद क्षणों की है। सूर्य सुबह उदय होता है, शाम को अस्त हो जाता है, फिर अँधेरा शुरू हो जाता है। जिंदगी चंद सांसों की है। कोई 20-30 वर्षों तक जीता है, कोई 40-50 वर्षों तक और कोई 60-70 वर्षों तक जीता है। हमें इस जिंदगी का पूरा-पूरा फायदा उठाना चाहिए क्योंकि मानव चोला हमें बड़े भागों से मिला है।

यदि हमने यह मौका गँवा दिया, तो फिर से लम्बी अँधेरी रात शुरू हो जाएगी और फिर मालूम नहीं कि कब हमें यह मानव चोला मिले। कबीर साहिब हमें समझा रहे है कि हमारी हालत सोई हुई राजकुमारी की तरह है। इसके बारे में एक कथा है कि एक राजकुमारी, जो श्राप के कारण हर समय सोती रहती थी|

ई- पेपर  बातम्या   आत्मधन  ज्योतिष  वास्तुशास्त्र  संस्कृती  आरोग्य  गृहिणी  पाककला  सौन्दर्य  मुलांचे विश्व  सुविचार  सामान्य ज्ञान   नोकरी विषयीक   प्रॉपर्टी   अर्थकारण   मनोरंजन   तंत्रज्ञान  क्रिडा  पर्यटन  निधनवार्ता   पोल  प्रश्नमंजुषा