तो इसका कारण घर के मुख्य द्वार में वास्तु दोष हो सकता है…

घर का मुख्य द्वार बेहद खास होता है क्योंकि यहीं से आपके घर में सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती हैं। यदि आपके घर में कोई हमेशा बीमार रहता है या कोई परेशानी चल रही है, तो इसका कारण घर के मुख्य द्वार में वास्तु दोष हो सकता है।

इससे बचने के लिए घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक का चिह्न बनाएं ,स्वास्तिक धनात्मक ऊर्जा का भी प्रतीक है। इसे बनाने से हमारे आसपास से नकारात्मक ऊर्जा दूर हो जाती है।

स्वास्तिक श्रीगणेश का ही प्रतीक स्वरूप है। किसी भी पूजन कार्य का शुभारंभ बिना स्वास्तिक के नहीं किया जा सकता। चूंकि शास्त्रों के अनुसार श्रीगणेश प्रथम पूजनीय हैं, अत: स्वास्तिक का पूजन करने का अर्थ यही है कि हम श्रीगणेश का पूजन कर उनसे विनती करते हैं कि हमारा पूजन कार्य सफल हो।

घर के मुख्य द्वार पर श्रीगणेश का चित्र या स्वास्तिक बनाने से घर में हमेशा सुख-समृद्धि बनी रहती है। धन-धान्य की कमी नहीं होती.

 

 

ई- पेपर  बातम्या   आत्मधन  ज्योतिष  वास्तुशास्त्र  संस्कृती  आरोग्य  गृहिणी  पाककला  सौन्दर्य  मुलांचे विश्व  सुविचार  सामान्य ज्ञान   नोकरी विषयीक   प्रॉपर्टी   अर्थकारण   मनोरंजन   तंत्रज्ञान  क्रिडा  पर्यटन  निधनवार्ता   पोल  प्रश्नमंजुषा